फेसबुक ला रहा है नया फीचर, पड़ोसियों के साथ कनेक्ट होने में करेगा मदद - ucnews.in

बुधवार, 21 अक्तूबर 2020

फेसबुक ला रहा है नया फीचर, पड़ोसियों के साथ कनेक्ट होने में करेगा मदद

फेसबुक अपने यूजर्स के लिए नया फीचर बना रही है। इस फीचर में पड़ोसियों को और बेहतर से जानने में मदद मिलेगी। फिलहाल इसकी टेस्टिंग कनाडा के एक शहर में चल रही है। फेसबुक इस फीचर के जरिए मार्केट लीडर नेक्स्टडोर (Nextdoor) को पीछे छोड़ने की योजना पर भी काम कर रही है। जबकि, नेक्सटडोर आने वाले दिनों में आईपीओ लाने की तैयारी में है।

नए फीचर की चल रही है टेस्टिंग

सोशल मीडिया कंसल्टेंट मैट नवारा ने हाल ही में सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर किया था। इसमें बताया गया है कि अभी फेसबुक का नया फीचर टेस्टिंग की शुरुआती स्टेज में है। इस पोस्ट में जो स्क्रीनशॉट दिख रहा है उस प्रोडक्ट को नेबरहुड्स (Neighborhoods) कहा जा रहा है। इसमें यूजर्स अपना पता भरकर एक यूनिक नेबरहुड्स प्रोफाइल बना सकते हैं। इस पर कंपनी के एक प्रवक्ता ने बताया कि, यह सच है कि फेसबुक कनाडा के कैलगरी (Calgary) मार्केट में नए फीचर की टेस्टिंग कर रही है।

कैसा है नया फीचर?

इस फीचर में प्रत्येक नेबरहुड्स यूजर्स खुद के मिनी सोशल नेटवर्क के रूप में काम करते हैं। लोग इससे पड़ोस में हो रही घटनाओं को भी पोस्ट करते हैं, जिसमें क्राइम या कोई अन्य घटनाएं शामिल हैं। इस फीचर के जरिए यूजर्स सामान बेचने और अन्य के लिए भी पोस्ट कर सकते हैं।

पहले से ज्यादा हो रहा है फेसबुक का यूज

मैट द्वारा किए गए पोस्ट में दिख रहे फोटो में फेसबुक ने अपने यूजर्स को याद दिलाया है कि नए फीचर्स के अंदर 'कम्युनिटी स्टैंडर्ड्स' को भी लागू किया गया है। कंपनी यूजर्स को 'कीप इट क्लीन' और 'बी इनक्लूजिव' रहने के लिए भी प्रोत्साहित कर रही है।

फेसबुक के प्रवक्ता ने कहा कि यूजर्स, स्थानीय लोगों के साथ जुड़ने के लिए पहले से कहीं ज्यादा फेसबुक का यूज कर रहे हैं। इसको और आसान बनाने के लिए नेबरहुड्स फीचर को लाया जा रहा है। इस फीचर से फेसबुक एप में यूजर्स के लिए खास स्पेस दिया जा रहा है। फिलहाल हम एक लिमिटेड टेस्टिंग कर रहे हैं। ब्लूमबर्ग के मुताबिक, इससे पहले भी फेसबुक ने एप के जरिए लोगों को और बेहतर बातचीत के लिए प्रेरित किया है, जिसमें प्राइवेट ग्रुप और मैसेजिंग एप शामिल हैं।

सबसे पहले नेक्स्टडोर ने लाया था यह फीचर

मार्केट में नेबरहुड्स जैसे फीचर की पॉपुलैरिटी सोशल नेटवर्क कंपनी नेक्स्टडोर की वजह से है। क्योंकि फेसबुक से पहले नेक्स्टडोर ने ही 2008 में इस आइडिया पर सोशल नेटवर्क की शुरुआत की थी। कंपनी ने इससे करीब 470 मिलियन डॉलर की फंडिंग भी जुटाई थी।

आने वाला है नेक्स्टडोर का आईपीओ

फिलहाल, नेक्स्टडोर आईपीओ लाने की योजना पर काम कर रही है। नेक्स्टडोर के मुताबिक, कंपनी दुनियाभर में करीब 2.68 लाख लोगों को सर्विस दे रही है। इसमें अमेरिका की चौथाई भागीदारी शामिल है, जो कंपनी की सर्विस लेते हैं। ब्लूमबर्ग के मुताबिक, मार्केट में जब फेसबुक की इंट्री होगी तब इसका असर नेक्स्टडोर के कारोबार पर भी पड़ेगा। उदाहरण के तौर पर, मेन्लो पार्क ने अमेरिका में एक डेटिंग प्रोडक्ट लॉन्च किया, जिसके बाद शेयर बाजार में मैच ग्रुप का शेयर 7% से ज्यादा नीचे गिर गया।

फेसबुक पर नकल करने का आरोप

फेसबुक का इतिहास रहा है कि वह मार्केट के खास प्रोडक्ट्स की नकल करता है। इसका सबसे बड़ा उदाहरण स्नैपचैट की एप 'स्टोरी' फीचर को नकल करने का मामला है। इस मामले में स्नैपचैट ने फेसबुक पर आरोप लगा है कि उसने यह कॉंन्सेप्ट स्नैपचैट के फीचर का नकल किया है। इस मामले में फेसबुक स्थानीय सरकार की रेग्यूलेटरी की जांच के दायरे में है। जानकार मानते हैं कि, अब नेक्स्टडोर और फेसबुक के बीच नेबरहुड्स फीचर को लेकर भी विवाद हो सकता है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Facebook Neighborhoods Feature: Here's Updates From Social Media Consultant Matt Navarra


from Dainik Bhaskar
via

Share with your friends

Add your opinion
Disqus comments
Notification
This is just an example, you can fill it later with your own note.
Done