97 साल के दिलीप कुमार की पत्नी सायरा बानो ने कहा- साहब की तबियत ठीक नहीं, उनके लिए दुआ करें - ucnews.in

सोमवार, 7 दिसंबर 2020

97 साल के दिलीप कुमार की पत्नी सायरा बानो ने कहा- साहब की तबियत ठीक नहीं, उनके लिए दुआ करें

दिग्गज एक्ट्रेस सायरा बानो का कहना है कि उनके पति ट्रेजेडी किंग दिलीप कुमार की तबियत ठीक नहीं है। उन्होंने एक अंग्रेजी न्यूज वेबसाइट से बातचीत में कहा, "वे ठीक नहीं है। काफी कमजोर हो गए हैं। कभी-कभी वे चलकर हॉल में चले जाते हैं और वापस अपने कमरे में लौट आते हैं। उनकी इम्युनिटी कम है। उनकी अच्छी सेहत के लिए दुआ करें। हम हर दिन के लिए खुदा के शुक्रगुजार हैं।"

'प्यार में कर रही साहब की देखभाल'

टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में सायरा ने कहा, "मैं दिलीप साहब की देखभाल प्यार में करती हूं। ऐसा नहीं है कि कोई दबाव है। मैं उनकी देखभाल इसलिए नहीं करती कि कोई मेरी तारीफ करे और मुझे समर्पित पत्नी कहे। मेरे साथ हो रही दुनिया की सबसे अच्छी बात उन्हें छूना और कडल करना है। मैं उन्हें प्यार करती हूं और वे मेरी जिंदगी हैं।"

कोरोना को लेकर सतर्क रहे दिलीप

इसी साल मार्च में दिलीप कुमार ने सोशल मीडिया पर बताया था कि वे पूरी तरह आइसोलेशन और क्वारैंटाइन में हैं। 11 दिसंबर को 98 साल के होने जा रहे दिलीप साहब ने लिखा था, "कोरोनावायरस के प्रकोप के चलते मैं पूरी तरह आइसोलेशन और सेल्फ क्वारैंटाइन में हूं। मुझे किसी तरह का इन्फेक्शन न हो, यह सुनिश्चित करने के लिए सायरा कोई मौका नहीं छोड़ रहीं।" इसके साथ ही उन्होंने अपने प्रशंसकों से घर में रहने की अपील की थी।

कोरोना से दो भाइयों का इंतकाल हुआ

कोरोनावायरस के चलते इस साल दिलीप कुमार के दो छोटे भाइयों का निधन हुआ। 21 अगस्त को 88 साल के असलम का इंतकाल हुआ और फिर 2 सितंबर को 90 वर्षीय अहसान चल बसे। इसके चलते सायरा बानो और दिलीप कुमार ने 11 अक्टूबर को अपनी शादी की 54वीं सालगिरह का जश्न नहीं मनाया था।

सायरा ने सोशल मीडिया पर इस बात का ऐलान करते हुए लिखा था, "11 अक्टूबर हमेशा से मेरी जिंदगी का सबसे खूबसूरत दिन है। दिलीप साहब ने इसी दिन मुझसे शादी की थी और मेरे सपनों को साकार किया था। इस साल हम जश्न नहीं मना रहे हैं। आप सभी जानते हैं कि हमने अपने दो भाइयों अहसान भाई और असलम भाई को खो दिया है।"

पद्मभूषण, दादा साहब अवॉर्ड से सम्मानित

दिलीप कुमार का असली नाम मोहम्मद यूसुफ खान है। उन्होंने 'ज्वार भाटा' (1944), 'अंदाज' (1949), 'आन' (1952), 'देवदास' (1955), 'आजाद' (1955), 'मुगल-ए-आजम' (1960), 'गंगा जमुना' (1961), 'क्रान्ति' (1981), 'कर्मा' (1986) और 'सौदागर' (1991) समेत 50 से ज्यादा बॉलीवुड फिल्मों में काम किया है।

बेहतरीन अदाकारी के लिए उन्हें 8 बार सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के तौर पर फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला। हिंदी सिनेमा के सबसे बड़े सम्मान दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड से भी उन्हें सम्मानित किया जा चुका है। 2015 में भारत सरकार ने उन्हें देश का दूसरा सबसे बड़े सम्मान पद्म भूषण से सम्मानित किया था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
दिलीप कुमार 11 दिसंबर को 98 साल के होने जा रहे हैं।


from Dainik Bhaskar
via

Share with your friends

Add your opinion
Disqus comments
Notification
This is just an example, you can fill it later with your own note.
Done