सिद्धार्थ गुप्ता ने कहा- दोस्त के जरिए सुशांत का आखिरी मैसेज मिला था, तभी लगा कुछ गड़बड़ है - ucnews.in

मंगलवार, 1 दिसंबर 2020

सिद्धार्थ गुप्ता ने कहा- दोस्त के जरिए सुशांत का आखिरी मैसेज मिला था, तभी लगा कुछ गड़बड़ है

सुशांत सिंह राजपूत की मौत से कभी उनके रूम मेट रह चुके एक्टर सिद्धार्थ गुप्ता को गहरा झटका लगा है। उन्होंने कई बार सोशल मीडिया पर इस बात का जिक्र किया है कि इस कमी की कभी भरपाई नहीं हो सकती है। हाल ही में एक इंटरव्यू में सिद्धार्थ ने कहा कि सुशांत का आखिरी मैसेज एक दोस्त के जरिए मिला था और इसी से उन्हें शक हो गया था कि सुशांत की जिंदगी में कुछ गड़बड़ है।

सिद्धार्थ ने पिंक विला को दिए इंटरव्यू में कहा कि सुशांत ने हमारे कॉमन फ्रैंड कुशाल जावेरी से कहा था कि वो आध्यात्मिकता पर काम कर रहा है और जल्दी ही हम लोगों के साथ मिलेगा। उसने कुशाल कहा था कि वो बीते हुए दिनों को मिस करता है, जो हमने साथ बिताए थे। उसने सिद्धार्थ के लिए प्यार भी भेजा था।

जल्द से जल्द सुशांत से मिलना चाहता था- सिद्धार्थ
सिद्धार्थ ने बताया- सुशांत की मौत का मुझे बहुत दुख था। ये हम सबके लिए एक बहुत बड़ा नुकसान था। वो जो भी करता था, मैं उसे फॉलो करता था। लेकिन, वो जिंदगी में काफी आगे बढ़ चुका था और दूसरे लोगों के साथ रह रहा था। जब मुझे उसकी मौत की खबर मिली तो मुझे कुशाल से हुई बातचीत याद आ गई। मुझे लगा था कि सुशांत की जिंदगी में कुछ गड़बड़ है, क्योंकि वो वहां (मुंबई) में पूरी तरह वो नहीं था, जो वो था।

सिद्धार्थ जानना चाहते थे क्या हुआ
इसके बाद कुशाल ने सिद्धार्थ को मैसेज किया था कि जल्द ही मिलते हैं और वो करते हैं, जो हम करते थे। सिद्धार्थ ने कहा कि मैं सुशांत की जिंदगी में दखलंदाजी नहीं करना चाहता था, लेकिन मैं जल्द से जल्द मिलना चाहता था उससे ताकि ये जान सकूं कि क्या हुआ है। मुझे कुछ आशंका थी। हालांकि, मेरे पास उसका नंबर नहीं था। कुशाल के पास नंबर था। हमने कभी भी कुछ गड़बड़ होने के बारे में नहीं सोचा था।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Late actor Sushant Singh Rajput’s ex-roommate Siddharth Gupta sensed something off about SSR’s last message to him


from Dainik Bhaskar
via

Share with your friends

Add your opinion
Disqus comments
Notification
This is just an example, you can fill it later with your own note.
Done